Uttar Bharat GI Mahotsav – वाराणसी में North India GI Festival 16-21 Oct तक

Uttar Bharat GI Mahotsav – उत्तर प्रदेश के वाराणसी मे दीपावली से पहले Uttar Bharat GI Mahotsav का आयोजन होने जा रहा है। यह आयोजन 16 अक्टूबर से 21 अक्टूबर 2022 तक आयोजित किया जाएगा। जिसका उद्घाटन 16 अक्टूबर को बड़ालालपुर स्थित पंडित दीनदयाल हस्तकला संकुल में होगा। इसमें उत्तर भारतके कई प्रदेश अपने GI (ज्योग्राफिकल इंडिकेटर) उत्पादों की प्रदर्शनी लगाएंगे। इसके अलावा सेमिनार आदि का भी कार्यक्रम किया जाएगा। अब आप यह जानने के इच्छुक होंगे कि क्या है उत्तर भारत जीआई महोत्सव? तो आप यह जानने के लिए हमारे इस आर्टिकल को अवश्य पढ़ें। क्योंकि हम आपको Uttar Bahat GI Mahotsav 2024 से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियां बहुत ही सरल शब्दों में बताने जा रहे हैं। जिसे पढ़कर आप इस महोत्सव से जुड़ी सभी जानकारियों को आसानी से समझ सकेंगे।

Uttar

Uttar Bahat GI Mahotsav

उत्तर प्रदेश में उत्तर भारत जीआई महोत्सव आयोजित होने जा रहे हैं। जिसमें उत्तर प्रदेश के कई प्रदेश अपने GI उत्पादों का प्रदर्शन करेंगे। इस आयोजन में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने जिला विद्यालय निरीक्षक, निदेशक इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ हैंडलूम टेक्नालॉजी, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नालॉजी के निदेशक, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ कॉरपेट टेक्नालॉजी, भदोही के निदेशक, सभी ITI के प्रधानाचार्य, सभी पॉलिटेक्निक के प्रधानाचार्य और निट्रा के सहायक निदेशक को पत्र लिखकर आयोजन से संबंधित दिशा-निर्देश भी जारी कर दिया है। कि वह अपने छात्रों को इस महोत्सव में भ्रमण कराएं। जिससे छात्रों को GI उत्पादों की जानकारी मिल सके और वह इन उत्पादों को बनाने और इनसे होने वाले लाभ के बारे में जान सके। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि Uttar Bahat GI Mahotsav में किस-किस दिन कितने छात्रों द्वारा भ्रमण किया जाएगा, इसकी सूचना उपायुक्त (उद्योग) उनके मोबाइल नंबर पर 9452619058 पर अवश्य प्रदान करें।

यूपी निवेश मित्र

जीआई उत्पाद क्या होते हैं?

जब किसी क्षेत्र के विशिष्टता और प्रतिष्ठा वाले उत्पाद को WIPO द्वारा जीआई टैग देकर भौगोलिक पहचान दी जाती है। तो उन उत्पाद को जीआई उत्पाद कहा जाता है। जीआई (ज्योग्राफिकल इंडिकेटर) टैग का मुख्य लक्ष्य किसी खास भौगोलिक परिस्थिति में पाई जाने वाली या तैयार की जाने वाली वस्तुओं के दूसरे स्थानों पर गैर-कानूनी प्रयोग को रोकना है। यह टैग खेती से जुड़े उत्पाद, हैंडीक्राफ्ट, खाद्य सामग्री, उत्पाद को दिया जाता है। जीआई उत्पाद की विशेषता और प्रतिष्ठा मुख्य रूप से प्राकृतिक और मानवीय कारकों पर निर्भर होती है। किसी भी उत्पाद को जीआई उत्पाद बनाने के लिए Controller General of Patents, Designs and Trade Marks (CGPDTM) कार्यालय में आवेदन करना होता है। हम आपको उदाहरण के तौर पर बताते हैं जैसे कि बनारस का जीआई उत्पाद बनारसी साड़ियां है और हैदराबाद का हलीम।

Uttar Bahat GI Mahotsav Highlights

महोत्सव का नाम उत्तर भारत जीआईमहोत्सव
कहां शुरू किया जा रहा उत्तर प्रदेश के वाराणसी में
कब से कब तक आयोजित होगा? 16 से 21 अक्टूबर 2022
लाभार्थी तकनीकी शिक्षा से जुड़े छात्र
उद्देश्य तकनीकी शिक्षा से जुड़े छात्र छात्राओं को जीआई उत्पादों के बारे में जानकारी प्रदान करना
राज्य उत्तर प्रदेश
साल 2022

महोत्सव के लिए प्रमुख शिक्षण संस्थानों में शेड्यूल की जाएंगी बसें

वाराणसी प्रशासन द्वारा Uttar Bharat GI Mahotsav के लिए हस्तकला संकुल रूठ पर ई बसों, रोडवेज और सिटी बसों का संचालन करने का शेड्यूल तैयार किया जा रहा है। जिसके लिए जिला अधिकारी कौशल राज शर्मा ने वाराणसी सिटी ट्रांसपोर्ट के प्रबंधन निदेशक, आरटीओ और रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक को पत्र लिखकर BHU एवं BLW सहित अन्य प्रमुख संस्थानों से ई-बसे, रोडवेज और सिटी बसों को बड़ालालपुर सहित हस्तकला संकुल तक संचालित करने के निर्देश दिए हैं। कुछ सूत्रों से माना जा रहा है कि इस महोत्सव में कुछ देशों के प्रतिनिधिमंडल शामिल हो सकते हैंं। लेकिन इस खबर पर अभी तक प्रशासन की तरफ से कोई स्पष्ट खबर नहीं आए है।

यूपी MSME लोन मेला

उत्तर भारत जीआई महोत्सव का उद्देश्य

Uttar Bharat GI Mahotsav का मुख्य उद्देश्य उत्तर भारत के कई प्रदेशों के Geographical Indications (GI) उत्पादों की प्रदर्शनी करना है। इस महोत्सव में तकनीकी शिक्षा से जुड़े छात्र छात्राओं को जोड़ा जाएगा। ताकि उन्हें जीआईउत्पादों को बनाने और इनसे होने वाले लाभ के बारे में जानकारी मिल सके कि किस प्रदेश का कौन-कौन सा उत्पाद GI Tag वाला यानी ज्योग्राफिकल इंडिकेटर उत्पाद है और किन विशेषता एवं प्रतिष्ठा के कारण यह उत्पाद जीआईउत्पाद बने हैं। इसके अलावा उत्तर भारत जीआई महोत्सव में विभिन्न प्रकार के सेमिनार आदि कार्यक्रम का भी आयोजन किया जाएगा। इस महोत्सव को लेकर जिलाधिकारी ने अपनी आदेश भी दे दिए हैं कि आईटीआई और पॉलिटेक्निक के प्रिंसिपल अपने छात्रों को इस महोत्सव में लाकर भ्रमण करवाएं और जीआईउत्पादों की प्रदर्शनी को दिखाएं।

Uttar Bharat GI Mahotsav की विशेषताएं और लाभ

  • उत्तर प्रदेश के वाराणसी में उत्तर भारत जीआई महोत्सव का आयोजन होगा।
  • इस आयोजन का उद्घाटन 16 अक्टूबर 2022 को बड़ालालपुर स्थित पंडित दीनदयाल हस्तकला संकुल में होगा।
  • वाराणसी में यह आयोजन 16 अक्टूबर से लेकर 21 अक्टूबर 2022 आयोजित किया जाएगा।
  • Uttar Bharat GI Mahotsav में उत्तर भारत के कई प्रदेश अपने ज्योग्राफिकल इंडिकेटर उत्पादों की प्रदर्शनी करेंगे।
  • इस आयोजन से आईटीआई और पॉलिटेक्निक के छात्रों को जोड़ा जाएगा। जिससे छात्र जीआईउत्पादों के बारे में जानकारी हासिल कर सकें।
  • जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने आईटीआई और पॉलिटेक्निक के प्रिंसिपल को इस महोत्सव में अपने छात्रों को लाने के लिए पत्र लिखकर निर्देश भी जारी कर दिए हैं।
  • साथ ही जिलाधिकारी ने कहा है कि किस दिन कितने छात्रों द्वारा महोत्सव में भ्रमण किया जाएगा इसकी सूचना उद्योग उनके मोबाइल नंबर 9452619058 पर जरूर सूचित करें।
  • यह महोत्स्व जीआईउत्पादों की प्रदर्शनी करके अधिक से अधिक उनका प्रचार करेगा और लोगों को उनकी विशेषता और प्रतिष्ठा के बारे में अवगत कराएगा।

उत्तर प्रदेश रोजगार मेला


Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *