प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (PMSMA) क्या है ? सुविधाएं उद्देश्य एवं लाभ

Pradhanmantri Surakshit Matritva Abhiyan – देश के गरीबों और कमजोर वर्ग के लोगों के लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित की जाती है। इन्हीं योजनाओं में से एक योजना प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान है। यह योजना गर्भवती महिलाओं के लिए शुरू की गई है जिसके माध्यम से सरकार द्वारा गरीब महिलाओं को लाभ देने का प्रयास किया जाता है। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान भारत सरकार की एक नई पहल है। इस योजना के माध्यम से गर्भवती महिलाओं को मुफ्त इलाज की सुविधा दी जाती है। ताकि गरीब वर्ग की महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त हो सके। कैसे मिलेगा Pradhanmantri Surakshit Matritva Abhiyan का लाभ किस प्रकार करना होगा आवेदन इन सभी से जुड़ी जानकारी के लिए आपको यह आर्टिकल विस्तारपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा। क्योंकि आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से PMSMA Yojana से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे।

Pradhanmantri

Pradhanmantri Surakshit Matritva Abhiyan 2024

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान को देश के गरीब गर्भवती महिलाओं के लिए शुरू किया गया है। इस योजना की शुरुआत साल 2016 में केंद्र सरकार द्वारा की गई थी। इस योजना के माध्यम से गर्भवती महिलाओं को निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाती है अर्थात उन्हें मुफ्त इलाज की सुविधा दी जाती है। क्योंकि मजदूरी करने वाली महिलाएं गर्भवती होने के कारण मजदूरी नहीं कर पाती है जिसके कारण उनका काम छूट जाता है। ऐसे में सरकार द्वारा ऐसी महिलाओं को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान का लाभ प्रदान किया जाता है।

इस योजना का संचालन केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा किया जाता है। PMAMA Yojana के तहत हर महिला अपनी डिलीवरी तक हर महीने की 9 तारीख तक अपने घर के पास नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में फ्री जांच और इलाज करा सकती है। इसके अलावा डिलीवरी में परेशानी होने पर भी मुफ्त इलाज की व्यवस्था प्रदान की जाती है। साथ ही महिला को डिलीवरी में परेशानी होने पर उच्च चिकित्सा केंद्रों में भी रेफर किया जा सकता है।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के बारे में जानकारी

योजना का नाम Pradhanmantri Surakshit Matritva Abhiyan
शुरू की गई केंद्र सरकार द्वारा
संबंधित विभाग केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय
लाभार्थी देश की गर्भवती महिलाएं
उद्देश्य सभी स्वास्थ्य सेवाएं निशुल्क प्रदान करना
श्रेणी केंद्र सरकार योजना
साल 2023
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
अधिकारिक वेबसाइट https://pmsma.mohfw.gov.in/

Pradhanmantri Surakshit Matritva Abhiyan का उद्देश्य

केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को सभी सरकारी अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्र पर हर महीने की 9 तारीख को गर्भवती महिलाओं को निशुल्क चिकित्सा जांच का लाभ प्रदान करना है। ताकि गर्भवती महिलाओं को अच्छे स्वास्थ्य और स्वतंत्र जांच का निशुल्क लाभ प्रदान किया जा सके। इसके अलावा मातृत्व मृत्यु दर को कम किया जा सकेगा। महिलाओं को उनके स्वास्थ्य के मुद्दों और रोगों के बारे में जागरूक किया जा सकेगा। बच्चे के स्वास्थ्य जीवन सुरक्षित प्रसव को सुनिश्चित किया जाएगा। जिससे गर्भवती महिला एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सकेगी।

जननी सुरक्षा योजना

PMSMA कार्यक्रम के तहत उपलब्ध सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाएं

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में गर्भवती महिलाओं को सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है। जिनका विवरण नीचे दिया गया है।

ग्रामीण क्षेत्रों में

  • प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र
  • ग्रामीण अस्पतालों
  • उप जिला अस्पताल
  • जिला अस्पताल
  • मेडिकल कॉलेज अस्पताल

शहरी क्षेत्रों में

  • शहरी औषधालयों
  • शहरी स्वास्थ्य पोस्ट
  • प्रसूति गृह

Pradhanmantri Surakshit Matritva Abhiyan के तहत उपलब्ध सेवाएं

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं को निम्नलिखित सेवाओं का लाभ प्रदान किया जाता है जो कि निम्न प्रकार है।

  • इस योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को ब्लड प्रेशर, ब्लड टेस्ट, यूरिन टेस्ट, हिमोग्लोबिन जांच और अल्ट्रासाउंड फ्री में किया जाता है।
  • लाभार्थी महिलाओं को से अभियान के तहत हर महीने की 9वी तारीख को प्रसव पूर्व देखभाल सेवाओं का लाभ प्रदान किया जाएगा यदि किसी माह में नवी तारीख रविवार या राजकीय अवकाश होने की स्थिति में होती है तो ऐसी स्थिति में अगले कार्य दिवस पर इस दिवस का आयोजन किया जाएगा।
  • स्वास्थ्य सुविधाओं और सेवाओं का लाभ आउटरीच पर नियमित एएनसी के अतिरिक्त प्रदान किया जाएगा।
  • शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में इन सेवाओं को सरकार द्वारा सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों पर उपलब्ध कराया जाएगा।
  • ये सेवाएं गर्भवती महिलाओं को आवश्यक रूप से ओबीजीवाई विशेषज्ञों/चिकित्सकों द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी।
  • इस अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं को मातृत्व एवं बाल सुरक्षा कार्ड तथा सुरक्षित मातृत्व पुस्तिकाएं दी जाएगी।
  • उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं की पहचान करने के लिए उन्हें स्टीकर दिए जाएंगे ताकि महिलाओं की हालत और जोखिम कारक का संकेत दर्शाया जा सके। इस स्टीकर को हर जांच के दौरान MCP कार्ड के साथ जोड़ा जाएगा।
  • हरा स्टीकर– गर्भवती महिलाओं के लिए होगा जिनको किसी प्रकार का कोई खतरा नहीं है।
  • लाल स्टीकर– यह स्टीकर महिलाओं को दर्शाएगा जो उच्च जोखिम गर्भावस्था के साथ है।
  • नीला स्टीकर– उन महिलाओं के लिए जिनको गर्भावस्था के साथ उच्च रक्तचाप है।
  • पीला स्टीकर- यह उन महिलाओं के लिए होगा जिनको गर्भावस्था के साथ मधुमेह, हाइपोथायरायडिज्म, एसटीआई की स्थिती है।

राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान की मुख्य विशेषताएं

  • प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान केवल गर्भवती महिलाओं के लिए शुरू किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से हर महीने की 9 तारीख को गर्भवती महिलाओं की निशुल्क स्वास्थ्य जांच की जाएगी।
  • सभी प्रकार की चिकित्सा जांच इस योजना के तहत पूरी तरह से मुक्त होगी।
  • गर्भवती महिला अपना टेस्ट चिकित्सा केंद्र सरकार या निजी अस्पतालों और देश भर के किसी भी निजी क्लीनिक में करा सकती है।
  • स्वास्थ्य समस्याओं के आधार पर महिलाओं को अलग-अलग चिन्हित किया जाएगा ताकि डॉक्टर आसानी से समस्या का पता लगाकर इलाज कर सकें।

Pradhanmantri Surakshit Matritva Abhiyan के लाभ

  • प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत सभी सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों पर हर हर महीने की 9 तारीख को सभी गर्भवती महिलाओं की मुफ्त चिकित्सा जांच की जाएगी।
  • सरकारी अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्र पर महिलाओं की विभिन्न प्रकार के टेस्ट जैसे हीमोग्लोबिन का टेस्ट, खून टेस्ट, शुगर टेस्ट, ब्लड प्रेशर और वजन एवं अन्य टेस्ट किए जाएंगे।
  • गर्भवती महिलाओं को इस योजना के माध्यम से गर्भावस्था के दौरान उनके स्वास्थ्य समस्या के बारे में भी जानकारी का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को अच्छे स्वास्थ्य और स्वतंत्र जांच का निशुल्क लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • महिलाओं को उनके स्वास्थ्य के मुद्दों और रोगों के बारे में जागरूक किया जा सकेगा।
  • प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना से देश में मातृत्व मृत्यु दर में कमी आएगी।
  • अब केवल अच्छे स्वास्थ्य सुविधाएं शहर में ही नहीं बल्कि गांव में भी दी जा सकेगी।
  • देश की गरीब महिलाओं को इस अभियान के माध्यम से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं दी जा सकेगी।
  • इस अभियान के तहत अस्पताल में डिलीवरी और जच्चा और बच्चे की सुरक्षा का ध्यान रखने की कोशिश की जा सकेगी।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के लिए पात्रता

  • यह योजना केवल गर्भवती महिलाओं के लिए लागू है।
  • इस योजना के तहत देश की गरीब वर्ग की महिलाएं लाभ लेने हेतु पात्र होगी।
  • ग्रामीण क्षेत्र की गर्भवती महिलाएं निशुल्क स्वास्थ्य देखभाल का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र होगी।
  • प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत गर्भावस्था के 3 से 6 महीने मे लाभ लेने के लिए पात्र होगी।
  • इस योजना का लाभ शहरी क्षेत्रों और अर्ध शहरी क्षेत्रों की महिलाओं को नहीं मिलेगा।

मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद योजना

आवश्यक दस्तावेज

  • महिला का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के अंतर्गत आवेदन कैसे करें?

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र जाना होगा। वहां जाकर आपको प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत सुविधा व सेवा का लाभ प्राप्त करने हेतु पंजीकरण कराना होगा। आप से संबंधित कर्मचारी द्वारा जानकारी प्राप्त की जाएगी और आपको कुछ दस्तावेज देने होंगे। जिसके बाद आपका रजिस्ट्रेशन कर दिया जाएगा। इसके बाद आप हर महीने 9 तारीख से निशुल्क स्वास्थ्य जांच करा सकती है।


Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *