उत्तर प्रदेश गन्ना भुगतान 2023 कैसे चेक करें, UP Ganna Payment देखें, Status

UP Ganna Payment – उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा गन्ने के दामों में बढ़ोतरी करने का ऐलान किया गया है। साथ ही गन्ना किसान और चीनी व्यापारियों के एक साथ लाने के लिए पोर्टल की भी शुरुआत की गई है। यूपी के गन्ना किसानों के लिए सबसे बड़ी समस्या UP Ganna Payment समय पर ना हो पाना है। और इसी समस्या के लिए सरकार ने गन्ने की खरीद के 14 दिन बाद चीनी मिलों के लिए खाते में पैसे भेजने के नियम बनाए हैं। चीनी उद्योग और गन्ना की खरीदारी में पारदर्शिता लाने के लिए चीनी उद्योग और गन्ना विकास विभाग के माध्यम से ऑनलाइन पोर्टल App को शुरू किया है। ताकि गन्ना खरीदारी में पारदर्शिता आए और किसान के साथ किसी भी तरह का धोखा ना हो पाए। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से उत्तर प्रदेश गन्ना भुगतान से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएंगे।

UP

UP Ganna Payment 2024

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से भारतीय किसान यूनियन के नेताओं ने मुलाकात की। जिसमें किसानों के उत्तर प्रदेश का पिछला बकाया गन्ना भुगतान गन्ने का मूल्य बढ़ाया जाए और MSPको कानून बनाने के लिए विशेष बातों पर चर्चा की गई। इस मीटिंग में किसान प्रतिनिधि मंडल की ओर से समस्याएं रखी। जिसमें गन्ने का भुगतान को लेकर जल्द से जल्द करने का आश्वासन दिया गया। यूपी में 2019-20 में 112 चीनी मिलों का संचालन हुआ था।

उत्तर प्रदेश राज्य का कुल गन्ना क्षेत्रफल 26.80 लाख हेक्टेयर है। 811 क्विंटल प्रति हेक्टेयर गन्ना उत्पादकता है। गत वर्ष की तुलना में जो 6 क्विंटल प्रति हेक्टेयर है। राज्य में 1118.02 लाख टन गन्ने की पेराई करते हुए 126.37 लाख टन चीनी का उत्पादन 119 चीनी मिलों द्वारा किया गया था। जो अब तक की सबसे अधिक गन्ना पेराई एवं चीनी उत्पादन का रिकॉर्ड है। इस रिकॉर्ड के आधार पर प्रतिवर्ष गन्ना कटाई के समय लगभग 9000 सालों का परीक्षण करने की औसत उत्पादकता का गन्ना सर्वे के आधार पर तैयार किया जाता है।

यूपी गन्ना पर्ची कैलेंडर

18th Nov Update:- चीनी मिलों ने शुरू किया गन्ना मूल्य भुगतान

गन्ना किसानों के लिए राहत की खबर है। मेरठ मंडल की शुगर मिलों ने चालू पेराई सत्र 2024-25 का गन्ना मूल्य भुगतान करना शुरू कर दिया है। मंडल की 15 शुगर मिलों में से 14 ने चालू पेराई की शुरुआत कर दी है। शुगर मिलों द्वारा अब तक लगभग 104 लाख क्विंटल गन्ने की खरीद की जा चुकी है। शुगर मिलों ने खरीदे गए गाने के सापेक्ष गन्ना मूल्य का भुगतान करना भी शुरू कर दिया है। अभी 4 मिलों ने गन्ना भुगतान करना शुरू किया है। मेरठ जनपद की मवाना शुगर मिल ने 14.16 करोड़, दौराला शुगर मिल ने 10.14 करोड़, नंगलामल ने 8.67 करोड़ और बुलंदशहर की साबितगढ़ शुगर मिल ने 16.60 करोड़ रुपए का भुगतान कर दिया है। इन चारों मिलों ने 49.57 करोड़ रुपए का गन्ना मूल्य का भुगतान किया है।

उप आयुक्त राजेश मिश्रा और जिला गन्ना अधिकारी डॉक्टर दुष्यंत कुमार ने बताया है कि 14 दिन के अंदर शुगर मिलों को खरीदे गए गन्ने का भुगतान किए जाने के लिए कहा जा रहा है। बाकी शुगर मिलों ने अभी भुगतान नहीं किया हैं। अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही बाकी शुगर मिलें भी भुगतान शुरू करेगी।

उत्तर प्रदेश गन्ना भुगतान के बारे में जानकारी

आर्टिकल का नाम UP Ganna Payment
उत्पाद चीनी और गन्ना
विभाग चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग
उद्देश्य द्वारा गन्ना पेराई, उत्पादन, चीनी की जानकारी और सूचनाओं को एकत्रित करना
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के गन्ना किसान
राज्य उत्तर प्रदेश
साल 2023
अधिकारिक पोर्टल https://caneup.in/

UP Ganna Payment का उद्देश्य

उत्तर प्रदेश चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग का मुख्य उद्देश्य राज्य में चीनी मीलों द्वारा गन्ना पेराई, उत्पादन, चीनी की जानकारी और सूचनाओं को एकत्रित करना है। और विभिन्न उद्देश्य को पूरा करते हुए उपज का आकलन और स्थिति के अनुसार समय-समय पर दिशा निर्देश जारी करना है। तथा मीलों द्वारा गन्ना किसानों के भुगतान और अवशेष गन्ना मूल्य की सूचना को एकत्रित करना है। गन्ना फसल तैयार करने के लिए किसानों को कड़ी करनी होती है। इसलिए अपेक्षा की जाती है। उसकी फसल का दाम अच्छा मिले। इसी प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अधिकारिक पोर्टल को शुरू किया गया है।

उत्तर प्रदेश किसान उदय योजना

महत्वपूर्ण बिंदु

  • लगभग 49 गन्ना किसान उत्तर प्रदेश राज्य में पंजीकृत है। जिनमें से 33 लाख किसान गन्ने की फसल उगाते हैं। केवल 169 सहकारी गन्ना विकास समिति एवं शुगर मिल गन्ना विकास विभाग के पास शामिल है।
  • विभाग के क्षेत्र में आने वाले गन्ना किसानों को कीटनाशक, कृषि निवेश उर्वरक एवं मशीनरी उपलब्ध कराना। इन समितियों का कार्य है।
  • उत्तर प्रदेश के किसानों को अधिकारिक पोर्टल के माध्यम से पारदर्शिता सेवाएं प्राप्त होगी।
  • भुगतान प्रक्रिया में इस तरह किसान के साथ किसी भी तरह का धोखा नहीं होगा और सीधे किसानों के बैंक अकाउंट में पैसे जमा होंगे।
  • सरकारी और निजी मिलों से लगभग 12,000 करोड़ रुपए का भुगतान गन्ना किसानों को प्राप्त होगा।
  • लगभग 50 लाख गन्ना किसान जो गन्ना उत्पादन पर आधारित है। अपने भुगतान का इंतजार कर रहे हैं।
  • करीब 28 लाख हेक्टेयर के क्षेत्रफल में उत्तर प्रदेश में गन्ने का उत्पादन किया जाता है।
  • उत्तर प्रदेश के 119 चीनी मिलों में लगभग 127 लाख टन चीनी के उत्पादन के लिए 1119 लाख टन गन्ने का उपयोग किया जाता है।
  • यूपी में सरकार ने हाल ही में चीनी मिलों द्वारा 2022 में खरीदे जाने वाले गन्ने का भाव 350 रूपए प्रति क्विंटल किया है। जो कि पिछले गन्ना रेट में 25 रूपए क्विंटल पर बढ़ाए गए हैं।

उत्तर प्रदेश गन्ना भुगतान कैसे देखें

  • सबसे पहले आपको चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग उत्तर प्रदेश की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
उत्तर
  • होम पेज पर आपको पहली वाली साइट पर जाना होगा।
  • जिसके बाद आपकी स्क्रीन पर इस तरह का पेज नजर आएगा।
उत्तर
  • अब इस पेज पर आपको एक कोड मिलेगा जिसे कोड में डाले और नेक्स्ट पर क्लिक करें।
  • जिसके बाद करना किसान को अपने जिले और मिल का चुनाव करना होगा।
  • फिर अपने गांव का चुनाव करना होगा।
  • किसान को गन्ना बेचते समय मिली पर्ची में लिखे फॉर्मर को कोड डालना होगा।
  • इसके बाद गन्ना किसान को अपने द्वारा भेजी गई फसल का संपूर्ण विवरण दिखाई देगा। जिसमें वह भुगतान के स्टेटस को भी देख सकता है।

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *